भारतीय जनता पार्टी क्या है :– इसका पूरा इतिहास और विकास । What is Bharatiya Janata Party

  • भारतीय जनता पार्टी किस प्रकार बनी।
  • भारतीय जनता पार्टी का इतिहास किस प्रकार रहा।
  • 1992 से 2024 तक भाजपा का सफर किस प्रकार रहा ।

भारतीय जनता पार्टी किस प्रकार बनी।

भारतीय जनता पार्टी एक राजनीतिक दल है जिसमे भारतीय जनता पार्टी सरकार की नीतियां हिंदू राष्ट्रवादी विचारों का पालन करते हुए चलती है और भाजपा सरकार और RSS (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) के अच्छे संबंध है , भारतीय जनता पार्टी जो भारतीय जन संघ पार्टी के टूटने से बना । भारतीय जन संघ पार्टी की उत्पत्ति 1951 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी के द्वारा किया गया । 1975–77 में आपातकाल के बाद अपनी पार्टी बनाने के लिए अन्य राजनीतिक दलों के साथ मिलकर 1977 के चुनाव में अपनी सरकार को बनाया।
परंतु 1980 में इस सरकार को भंग कर दिया गया । 1984 के चुनाव में भाजपा सरकार के पास केवल दो सीट आए।  इसके बाद U.P. में राम जन्म भूमि में आंदोलन बढ़ने से इनकी ताकत भी बढ़ने लगी।  ताकत बढ़ाने से कई राज्यों के चुनावो को जितने लगे । इसके बाद 1996 में संसद में एक बड़ी पार्टी बनकर  सामने आई । परंतु संसद के निचले सदन में बहुमत न पाने से अटल बिहारी वाजपेई की सरकार 13 दिनों तक ही चल पाई।

1998 में चुनावो के बाद अटल बिहारी वाजपेई के नेतृत्व में गठबंधन सरकार (NDA) सरकार आई । जो 1 साल तक ही चली । सरकार के भंग होने पर भी दोबारा भारतीय जनता पार्टी ने  अपनी सरकार बना ली । जो 1999–2004 तक की राही।

2004 के बाद चुनावो में 10 सालों तक भारतीय जनता पार्टी को हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद 2014 में गुजरात के मुख्यमंत्री द्वारा फिर एक बार भारी मतों के साथ जीत दिलाई। जिसमें नरेंद्र मोदी की सरकार गठबंधन के साथ आई सत्ता में । 2014 में जीत के बाद भाजपा सरकार ने RSS की कई प्राथमिकताओं को लागू किया जिसमें तीन तलाक, आर्टिकल 370 को खत्म करना रहा इसमें।

भारतीय जनता पार्टी का इतिहास किस प्रकार रहा।
भारतीय जनसंघ पार्टी की उत्पत्ति कांग्रेस के प्रतिद्वंद्वी के रूप में 1951 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी के द्वारा स्थापित किया। इसके संस्थापन में  RSS ( राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ) का पूर्णत सहयोग रहा। 1951 के चुनाव में भारतीय जनसंघ ने तीन लोकसभा सीटें अपने नाम किये। शुरुआत के समय में इनमे RSS  के कार्यकर्ता सम्मिलित थे ।
जो चुनाव में उतरे थे 1975 में जब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा आपातकाल की घोषणा की गई थी जिसमें कई आंदोलनकार्यों को जेल में डाला गया था। इसके बाद भारतीय राजनीतिक दलो और अन्य राजनीतिक दलों ने साथ में मिलकर कांग्रेस पार्टी को हराने की सोची ।
इसके बाद 1977 के चुनाव में मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री बने जो की गठबंधन के साथ अपनी सरकार लाए ।
1980 में कुछ कारणों से भारतीय जनसंघ और RSS को अलग होना पड़ा । जिसके कारण पार्टी टूटने से सरकार गिर गई, जिसमें भारतीय जन संघ से भारतीय जनता पार्टी एक राजनीतिक पार्टी के रूप में उमरी।

1984 के चुनावो में कांग्रेस पार्टी ने 403 सीटों के साथ अपनी सरकार बनाई। इस समय भाजपा पूरी तरह से नीचे आ गई थीं।
1984 में आडवाणी जब पार्टी के अध्यक्ष बने। इन्हीं के समय पर राम जन्मभूमि पर आंदोलन एक राजनीतिक आंदोलन के रूप में बन गया था । 1980 के समय से ही विश्व हिंदू परिषद द्वारा अयोध्या में राम जन्म स्थल पर बाबरी मस्जिद का होना, जिसे बाबर द्वारा 1527 में बनाया गया था । इसमें मस्जिद निर्माण के लिए मंदिर को तोड़े जाने के कारण इस मुद्दे को भाजपा सरकार ने राजनीतिक समर्थन प्रदान किया । जिसके बाद 1989 में भाजपा सरकार द्वारा 86 लोकसभा सीटों में अपनी जगह को बनाया।
1990 में आडवाणी द्वारा राम मंदिर आंदोलन के लिए अयोध्या में रथ यात्रा शुरू की गई ।जिसमें कहीं कार्यकर्ता भी शामिल थे । जिसके कारण यहां दंगे होना शुरू हो गए। ये सभी दंगे मुसलमानो और हिंदुओ के बीच हुए थे । इसके बाद भाजपा ने विधानसभा में बहुमत मिला ।

1992 से 2024 तक भाजपा का सफर किस प्रकार रहा ।
6 दिसंबर 1992 RSS के सहयोग और भाजपा समेत एक रैली निकाली गई। रैली को असफल करने और हिंदू –मुस्लिम के विवाद से कई लोगो की जाने भी गई। जिसमें आडवाणी सहित कई नेताओं को गिरफ्तार किया गया ।1996 के चुनावो में 161 लोकसभा सीटों पर जीत मिली , जिसमें वाजपेई प्रधानमंत्री बने , बहुमत न हो पाने से सरकार 13 दिनों में ही गिर गई।  1992 की रिपोर्ट 2009 में आई। जिसमे भाजपा नेता के 68 लोगों को ठहरा गया , जिसमें बाजपेई , आडवाणी , मुरली मनोहर इसमें प्रमुख नेता रहे । इसके बाद इन्हे 2020 के समय सर्वोच्च न्यायालय से बरी हो गए ।
1998 के समय मध्यवर्गीय चुनावो के लिए ( NDA ) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से चुनाव लड़ा । जिसके बाद वाजपेई की सरकार बनी। 1999 में यह गठबंधन टूट गया जिसमें सरकार गिर गई । 1999 में दोबारा चुनाव के बाद भी भाजपा ने पूर्ण बहुमत प्राप्त किया। जिसमें 303 सीटों के साथ सरकार बनी। 2004 और 2008 में बीजेपी को काफी धक्के खाने पड़े। जिसमे भाजपा अपनी सरकार नही बना पाई। 2014 में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने  भारतीय जनता पार्टी से चुनाव लड़ा ।
2014 के चुनाव में भाजपा ने 282 सीटों को प्राप्त किया , जिसमें 336 सीटों से NDA से बढ़त मिली 543 सीटों में से ।
नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली जिसमें मुसलमान का समर्थन कम रहा।  2019 में भी दुबारा नरेंद्र मोदी द्वारा बहुमत के रूप में अपनी सरकार लाए गई, जो 2024 तक बनी रही।

5 thoughts on “भारतीय जनता पार्टी क्या है :– इसका पूरा इतिहास और विकास । What is Bharatiya Janata Party”
  1. Its like you read my mind! You appear to know so much about this, like you wrote the book in it or something. I think that you can do with a few pics to drive the message home a little bit, but other than that, this is fantastic blog. A great read. I’ll certainly be back.

  2. From content creation to image editing, and from detailed calculators to comprehensive web management tools, ToolBox Hub has it all. Our easy-to-use interface makes navigating through these tools effortless, enhancing your productivity.

  3. I do agree with all the ideas you have introduced on your post. They are very convincing and will definitely work. Still, the posts are very short for newbies. May just you please prolong them a little from subsequent time? Thank you for the post.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *