भारत में दिए जाने वाले नागरिक सम्मान :- भारत रत्न और पद्म विभूषण (Bharat Ratna and Padma Vibhushan)

  • भारत रत्न के बारे में जानकारी
  • भारत रत्न में क्या दिया जाता है।
  • भारत रत्न को निलंबित कब किया गया।
  • भारत में प्राप्त करने वाले प्रथम व्यक्ति
  • भारत के राष्ट्रपति जिन्होंने भारत रत्न प्राप्त किया।
  • पद्म विभूषण के बारे में संक्षिप्त में
  • पद्म विभूषण प्राप्त करता किस प्रकार चुने जाते हैं।
  • पद्म विभूषण के इतिहास की जानकारी
  • पद्म विभूषण से जुड़े कुछ तथ्य ।

भारत में सम्मान प्रणाली में दिए जाने वाले पुरस्कार
भारत गणराज्य में दिए जाने वाले सम्मान में पुरस्कार जो की अलग-अलग कारण व परिस्थिति के अनुसार दिए जाते हैं जिसमें दिए जाने वाले नागरिक पुरस्कार में भारत रत्न सर्वोच्च सम्मान है उसके बाद पद्म पुरस्कार हैं
1 – भारत रत्न
2 – पद्म पुरस्कार

  • पद्म विभूषण
  • पद्म भूषण
  • पद्मश्री

भारत रत्न के बारे में जानकारी


भारत रत्न भारत देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान होता है , इसकी स्थापना 2 जनवरी 1954 में उसे समय के राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी , यह राष्ट्रीय सम्मान के लिए दिए जाने वाला एक पुरस्कार है जिसमें कला , साहित्य विज्ञान, सार्वजनिक सेवा व खेल शामिल किया गया है। 2011 में सरकार ने इसमें शामिल करने के लिए कुछ मापदंडों का विस्तार किया । जिसमें भारत रत्न के लिए प्रधानमंत्री के द्वारा पहले राष्ट्रपति को सिफारिश की जाएं तथा प्रतिवर्ष तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जाएगा । मूल कानून में मरणोपरांत पुरस्कार का प्रावधान नहीं था 1955 जनवरी में यह संशोधित किया गया । जिसमें लाल बहादुर शास्त्री मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित होने वाले पहले व्यक्ति बने।

भारत रत्न में क्या दिया जाता है।
इसमें राष्ट्रपति के द्वारा हस्ताक्षरित प्रमाण पत्र और पीपल के पत्ते के आकार में पदक दिया जाता है । उसे पदक में भारत रत्न लिखा रहता है , इसमें कोई धनराशि शामिल नहीं होती है ।

प्रमुख व्यक्तियों जिन्हे भारत रत्न प्राप्त हुआ

  • सचिन तेंदुलकर जिन्होंने 40 साल की आयु में यह सम्मान दिया गया । जो की सबसे कम आयु के थे भारत रत्न प्राप्तकर्ता।
  • मौलाना अबुल कलाम आजाद ने इसे लेने से इनकार किया था क्योंकि उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सम्मान के लिए चयन समितियां के सदस्यों को यह स्वीकार नहीं करना चाहिए परंतु 1992 में उन्हें मरणोपरांत भारत रत्न दिया गया।

भारत रत्न को निलंबित कब किया गया।
सरकार के बदलने के कारण भारत रत्न को पहली बार जुलाई 1977 से 1980 जनवरी तक तथा दूसरी बार अगस्त 1992 से दिसंबर 1995 तक निलंबित किया गया था।

भारत रत्न किन लोगों को दिया जाता है।
यह पुरस्कार राष्ट्रीय सम्मान के लिए दिया जाता है जिसमें कला , सार्वजनिक सेवा , साहित्य विज्ञान और खेल से शामिल उन व्यक्तिय होते है जिन्हे प्रधानमंत्री राष्ट्रपति को उनका नाम सिफारिश करता है । भारत रत्न प्राप्तकर्ता में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है । कि यह केवल भारतीय नागरिकों को दिया जाएगा । 1980 में यह मदर टेरेसा और उसके बाद दो गैर भारतीय 1987 में अब्दुल गफ्फार खान । 1990 में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेशनल मंडेला को दिया गया ।

भारत में प्राप्त करने वाले प्रथम व्यक्ति
भारत रत्न को प्राप्त करने वाले प्रथम व्यक्तियों की संख्या तीन है। जो की सर्वपल्ली राधाकृष्णन , सी वी रमन , सी राजगोपालाचारी यह तीन लोगों ने 1954 में भारत रत्न प्राप्त किया।

भारत के राष्ट्रपति जिन्होंने भारत रत्न प्राप्त किया।

सर्वपल्ली राधाकृष्णन – 1954
राजेंद्र प्रसाद – 1962
जाकिर हुसैन – 1963
ए पी जे अब्दुल कलाम – 1997
डॉ वी गिरी – 1975
प्रणब मुखर्जी – 2019

भारत रत्न प्राप्त करने वाले प्रमुख व्यक्तियों के नाम परीक्षा की दृष्टि से :-
अभी तक भारत रत्न 48 व्यक्तियों को मिल चुका है 1954 से 2019 तक । 2019 से 2023 तक यह पुरस्कार किसी को नहीं दिया गया। यहां कुछ प्रमुख व्यक्तियों के नाम है जिन्हें भारत में दिया गया।

  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन ( भारत के प्रथम व्यक्ति जिन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया ) – 1954
  • सीवी रमन ( भौतिक विज्ञान में नोबेल पुरस्कार विजेता ) – 1954
  • मदर टेरेसा ( प्रथम आंग्ल इंडियन ) – 1980
  • अब्दुल गफ्फार खान ( पाकिस्तानी ) – 1987
  • नेल्सन मंडेला ( दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति ) – 1990
  • लता मंगेशकर ( भारतीय गायक ) – 2001
  • सचिन तेंदुलकर ( सबसे कम उम्र के प्राप्तकर्ता ) – 2014
  • जवाहरलाल नेहरू ( प्रथम प्रधानमंत्री ) – 1955
  • इंदिरा गांधी ( प्रथम महिला प्रधानमंत्री भारत की ) – 1971
  • बी आर अंबेडकर ( भारतीय संविधान के जनक ) – 1990
  • अब्दुल कलाम आजाद ( भारतीय विद्वान और स्वतंत्रता सेनानी ) – 1992
  • जे आर डी टाटा ( टाटा समूह के अध्यक्ष ) – 1992
  • ए पी जे अब्दुल कलाम ( भारत के मिसाइल मैन ) – 1997

1954 से 2019 तक 48 व्यक्तियों को भारत रत्न से सम्मानित किया जिसमें 14 लोग मरणोपरांत भारत रत्न प्राप्त करता करता थे

पद्म विभूषण के बारे में संक्षिप्त में


इस पुरस्कार को 2 जनवरी 1954 में असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है , इसमें डॉक्टर वह वैज्ञानिक और पीएसयू में काम करने वाले सरकारी कर्मचारी इसमें सम्मिलित नहीं होते । अभी तक 2023 तक यह पुरस्कार 331 व्यक्तियों को दे दिया गया है, जिसमें 19 मरणोपरांत और 21 गैर नागरिक शामिल है।

1954 में सबसे पहले प्राप्तकर्ता पद्म विभूषण 1954 में पद्म विभूषण प्राप्त करता व्यक्तियों के नाम कुछ इस प्रकार हैं । सत्येंद्र नाथ बोस , नंदलाल बोस , जाकिर हुसैन , बाबा साहब गंगाधर खेर, वीके कृष्ण मेनन , जिग्मे दोरजी वाजयुक ।

पद्म विभूषण प्राप्त करता किस प्रकार चुने जाते हैं।
प्रत्येक वर्ष के 1 मई और 15 सितंबर के दौरान भारत के प्रधानमंत्री इस पुरस्कारकर्ताओ के नाम पद्म पुरस्कार समिति को प्रस्तुत करती है,
जो कि पूरे भारत से सम्मिलित होते हैं आगे की कार्रवाई के लिए समिति अपनी सिफारिश प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को सौंपती है और इन पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं की घोषणा गणतंत्र दिवस में की जाती है।

पद्म विभूषण के इतिहास की जानकारी
2 जनवरी 1954 में भारत के राष्ट्रपति के सचिव कार्यालय से दो नागरिक पुरस्कारों के निर्माण की घोषणा में प्रेस विज्ञप्ति प्रकाशित हुई । जिसमें प्रथम भारत रत्न जो भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है, और दूसरा त्रिस्तरीय पद्म विभूषण , ये सभी भारत रत्न के नीचे रैंक करते हैं । बाद में 15 जनवरी 1955 में पद्म विभूषण पुरस्कार को तीन भागों में बांट दिया वर्गीकृत किया गया । जिसमें सर्वोच्च स्थान पर पद्म विभूषण तथा उसके बाद पद्म भूषण तथा पद्मश्री है, इन्हें भी भारत रत्न के साथ सरकार बदलने पर निलंबित किया गया, पहली बार 1977 में जब मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री बने और दूसरी बार 1992 में इसे निलंबित किया गया।

पद्म विभूषण से जुड़े कुछ तथ्य ।
1992 को सतपाल आनंद द्वारा इन्हें भारत के संविधान के अनुच्छेद 18(1) की व्याख्या से नागरिक पुरस्कारों को उपाधि होने पर सवाल उठाया । उसके बाद 1992 में मध्य प्रदेश के हाईकोर्ट में इसे नागरिक पुरस्कारों को अस्थाई रूप से निलंबित कर दिया । फिर यह के सुप्रीम कोर्ट के पांच न्यायाधीश वाले मंच में । पांच न्यायाधीशों ने भारत रत्न और पद्म पुरस्कारों को अनुच्छेद 18 के तहत उपाधि नहीं माना है।

इसका दूसरा भाग पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

12 thoughts on “भारत में दिए जाने वाले नागरिक सम्मान :- भारत रत्न और पद्म विभूषण (Bharat Ratna and Padma Vibhushan)”
  1. You’ve made some good points there. I looked on the internet
    for more information about the issue and found most individuals will go along with your views on this web site.

  2. Hello! I’ve been reading your site for a while now
    and finally got the bravery to go ahead and
    give you a shout out from Austin Texas! Just wanted to mention keep up the good work!

  3. I appreciate the well-crafted content. It was truly an enjoyable read. I’m looking forward to even more engaging posts from you! By the way, do you have any preferred means of communication? By the way I am a Senior Researcher @ (Clickmen™)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *