भारत में दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार :- परमवीर चक्र , महावीर  चक्र , वीर चक्र। Military awards given in India:- ( Paramvir Chakra, Mahavir Chakra, Veer Chakra )

  • भारत में दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार के बारे में इतिहास संक्षिप्त में।
  • सैन्य पुरस्कार की स्थापना कैसे हुई ।
  • सैन्य पुरस्कार की चयन की प्रक्रिया
  • सैन्य पुरस्कारों में दिए जाने वाले प्रमुख पुरस्कार
  • परमवीर चक्र क्या है और इसे किन लोगो को दिया जाता है।
  • परमवीर चक्र में दिए जाने वाले सुविधा
  • महावीर पुरस्कार के बारे में जानकारी
  • महावीर  चक्र के बारे में इतिहास
  • वीर चक्र पुरस्कार के बारे में बताइए
  • वीर चक्र में दी जाने वाली सहायता

भारत में दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार के बारे में इतिहास संक्षिप्त में।
भारत के इतिहास में सम्मान की प्रक्रिया में अंग्रेजों के समय में भारत के अधिकारों को ही मेडल मिलते थे फिर कंपनी शासन द्वारा सिपाहियों को भी सम्मान करने लगे जैसे ढक्कन मेडल ( 1778- 84 )और मैसूर मेडल (1791- 92 ) कुछ इस प्रकार से मेडल देते थे।
फिर समय के साथ मेडलो में बदलाव आया और फिर इसे इंडिया ऑर्डर ऑफ मेरिट 1837 और विक्टोरिया क्रॉस 1911 व मिलिट्री क्रॉस 1914 जैसे मेडल दिए जाने लगे । परंतु ये पुरस्कार सेना में और अधिकारियों दोनों को दिए जाते थे।

सैन्य पुरस्कार की स्थापना कैसे हुई ।
स्वतंत्रता के बाद 1947 में भारत और पाकिस्तान का युद्ध हुआ जिसमें कहीं वीरों ने अपना वीरता का प्रदर्शन किया।  बाद में 26 जनवरी 1950 में युद्ध में वीरों के सम्मान के लिए तीन नए पुरस्कारों का आयोजन किया ।इसकी स्थापना 26 जनवरी 1950 में की। इस पुरस्कार को पहली बार 1950 में दिया गया। और इन पुरस्कारों को देने की प्रक्रिया 1947 आजादी के बाद से किया गया। जो की 1950 में एक साथ दिया गया।
बाद में शांति कालीन पुरस्कार ( जो बिना युद्ध के मैदान में अपनी बहादुरी दिखाने से था )  इसकी स्थापना 4 जनवरी 1952 में हुई,  जिसे अशोक चक्र वर्ग I  , अशोक चक्र वर्ग II , अशोक चक्र वर्ग III इन्हें भी 1947 से लागू किया गया। समय के बदलाव के बाद के साथ जनवरी 1967 में अशोक चक्र वर्ग ( I ) को अशोक चक्र नाम दिया गया , और अशोक चक्र (II) को कीर्ति चक्र और अशोक चक्र ( III) को शौर्य चक्र कहा गया।

सैन्य पुरस्कार की चयन की प्रक्रिया
अगर किसी व्यक्ति को सैन्य पुरस्कार देने के लिए उस यूनिट द्वारा इसकी प्रक्रिया शुरू की जाती है वह उनका नाम सेवा मुख्यालय को देते हैं वे इसे पुरस्कार समिति  को भेज कर वे सत्यापन करते हैं, सेवा प्रमुख की मंजूरी के बाद रक्षा मंत्रालय को  प्रस्ताव भेज दिया जाता है।  ( अगर यह पुरस्कार आम नागरिक को दिया जाए तो गृह मंत्रालय रक्षा मंत्रालय को प्रस्ताव देता है )
फिर यह रक्षा मंत्रालय केंद्रीय सम्मान पुरस्कार समिति को देते हैं जहां उच्च अधिकारी शामिल होते हैं वह इसका तय करते हैं,  और वे प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को इसके बारे में शिफारिश करते हैं।

सैन्य पुरस्कारों में दिए जाने वाले प्रमुख पुरस्कार
*परमवीर चक्र
*महावीर चक्र
*वीर चक्र

शांति कालीन पुरस्कार ( बिना युद्ध के मैदान के अपनी वीरता में दिया जाता है )
*अशोक चक्र
*कीर्ति चक्र
*शौर्य चक्र

सेना पदक – नौसेना पदक,  वायु सेना पदक।

परमवीर चक्र क्या है और इसे किन लोगो को दिया जाता है।
परमवीर चक्र भारत देश का सर्वोच्च सैन्य पुरस्कार है जो युद्ध में किए गए वीरता के लिए दिया जाता है यह सम्मान दुश्मनो की उपस्थिति में विशिष्ट बहादुरी के लिए दिया जाता है ।परमवीर चक्र का अर्थ परम बहादुर के लिए दिया जाने वाला चक्र है अभी तक यह पुरस्कार 21 लोगो ने प्राप्त किया है,  जिसमें से 14 को मरणोपरांत ( मरने के बाद यह पुरस्कार मिला )
से सम्मान किया ।  इनमें से 20 भारतीय थल सेवा से हैं और एक भारतीय वायु सेवा से हैं , परमवीर चक्र पुरस्कार सम्मान को सबसे पहले 3 नवंबर 1947 में दिया । जिसका शुरुआत 1950 से हुई, परमवीर चक्र पुरस्कार से सम्मान पाने वाले पहले प्राप्तकर्ता मेजर सोमनाथ शर्मा है , जो कुमाऊं रेजीमेंट उत्तराखंड से थे ।
परमवीर चक्र यूनाइटेड किंगडम में विक्टोरिया क्रॉस के बराबर व USA में मेडल ऑफ ऑनर के बराबर माना जाता है।  यह वर्ष में दो बार दिए जाते हैं जिसमें गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के दिन दिया जाता है , इसमें किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं होता है चाहे वह कोई अधिकारी हो या कोई सैनिक को हर कोई इसे पा सकता है , इस अवार्ड को डिजाइन सावित्री बाई ने किया।

परमवीर चक्र में दिए जाने वाले सुविधा :-
सरकार द्वारा परमवीर चक्र पाने वाले के परिवारों को भत्ते और पुरस्कार प्रदान करती है
इसमें प्रतिमा ₹20,000 की पेंशन दी जाती है, और समय-समय पर राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार दिए जाते हैं, तथा इसमें रेल यात्रा और चिकित्सा सुविधा में छूट दी जाती है

Note – सूबेदार मेजर बाना सिंह और सूबेदार संजय कुमार व सूबेदार योगेंद्र सिंह यादव जिन्होंने जीवित रहकर यह पुरस्कार प्राप्त किया है।

महावीर पुरस्कार के बारे में जानकारी


यह भारत देश का सेना को दिया जाने वाला दूसरा सबसे बड़ा पुरस्कार है,  यह पुरस्कार दुश्मनों की उपस्थिति में की गई वीरता के लिए दिया जाता है चाहै वह किसी भी सेना से हो।  जल सेना ,थल सेना ,वायु सेना । यह पुरस्कार मरणोपरांत भी दिया जाता है,  अभी तक कुल 74 व्यक्तियों को मरणोपरांत पुरस्कार मिला है, अभी तक यह पुरस्कार  231 लोगों को दिया है

महावीर  चक्र के बारे में इतिहास
यह पुरस्कार बहादुरी के लिए दिया जाता है,  1971 की भारत – पाक युद्ध जिसमें 11 वायु सेना के लोगो को  यह पुरस्कार प्राप्त हुआ।  सबसे पहले व्यक्ति जिन्होंने यह पुरस्कार पाया वे नाईक राजू थे। दो बार पाने वाले पहले व्यक्ति जग मोहन नाथ है इन्हे यह पुरस्कार मिला।

महावीर चक्र पुरस्कार में दी जाने वाली सहायता
महावीर चक्र प्राप्तकर्ता को प्रति माह 10,000 तक की राशि ( राज्य सरकार द्वारा अलग राशि और पुरस्कार दिए जाते हैं ) । इन राशि पर कोई टैक्स नहीं लगता।  इन्हे रेल यात्रा और चिकित्सा सुविधा में सहायता दी जाती है।

वीर चक्र पुरस्कार के बारे में बताइए


यह पुरस्कार सेना में दिए जाने वाले पुरस्कारों में तीसरे स्थान पर आता है , इस पुरस्कार को अभी तक 1,336 लोगों को दिया चुका है।  यह पुरस्कार  मरणोपरांत पर भी दिया जाता है,  इसकी स्थापना परमवीर चक्र के साथ ही 1950 में हुई थी। इन पुरस्कार को देने की तिथि 1947 से शुरू की गई ।

वीर चक्र में दी जाने वाली सहायता
वीर चक्र से सम्मानित व्यक्ति को प्रति माह ₹7,000 तक की राशि दी जाती है,  यह 2017 से तय किया गया। इससे पहले ₹3,500 की राशि दी जाती थी । इसमें कोई टैक्स नहीं लगता,  वीर चक्र से सम्मानित व्यक्ति को रेल यात्री और चिकित्सा सुविधा में छूट दी जाती है।

भारत में दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार में शांति पुरस्कार इसका part 2 के लिए click करे

13 thoughts on “भारत में दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार :- परमवीर चक्र , महावीर  चक्र , वीर चक्र। Military awards given in India:- ( Paramvir Chakra, Mahavir Chakra, Veer Chakra )”
  1. I think this is among the most significant information for me.
    And i’m glad reading your article. But want to remark on some general things, The web site
    style is ideal, the articles is really nice : D. Good job, cheers

  2. It is perfect time to make a few plans for the long run and it’s time
    to be happy. I’ve learn this put up and if I may just I wish
    to suggest you few fascinating things or tips.
    Maybe you can write next articles relating to this article.
    I desire to learn even more issues approximately it!

  3. I have to thank you for the efforts you have put in penning this site.
    I am hoping to view the same high-grade blog posts
    from you later on as well. In truth, your creative writing abilities has inspired
    me to get my own, personal blog now 😉

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *