शांति के दौरान दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार :- अशोक चक्र, कीर्ति चक्र, शौर्य चक्र ( Ashoka Chakra, Kirti Chakra, Shaurya Chakra )

  • शांति कालीन पुरस्कार की स्थापना कैसे हुई
  • शांति कालीन पुरस्कार के कुछ तथ्य
  • शांति कालीन पुरस्कार किन लोगों को देते हैं
  • अशोक चक्र पुरस्कार के बारे में संक्षिप्त में।
  • अशोक चक्र पुरस्कार में दिए जाने वाले लाभ
  • कीर्ति चक्र के बारे में संक्षिप्त में।
  • शौर्य चक्र के बारे में जानकारी संक्षिप्त में।

शांति कालीन पुरस्कार की स्थापना कैसे हुई
आजादी के बाद 1947- 48 के युद्ध के बाद जिन लोगों ने इसमें अपने साहस और वीरता का प्रदर्शन किया । जिनके लिए सैन्य पुरस्कार की स्थापना 1950 में की गई , लेकिन बाद में सरकार को अनुभव हुआ कि लोग केवल दुश्मनों की उपस्थिति में अपनी वीरता का प्रदर्शन नहीं करते , बल्कि बिना दुश्मनों की उपस्थिति में भी वह अपनी साहस और वीरता का प्रदर्शन कर रहे हैं । तब इसको लेकर शांति पुरस्कार की स्थापना हुई यह उनके शांति कालीन वीरता के लिए दिया जाने वाला सम्मान है , इसकी स्थापना 4 जनवरी 1952 में की गई जिससे अशोक चक्र वर्ग 1 ,अशोक चक्र वर्ग 2 , अशोक चक्र वर्ग 3 के नाम से स्थापना हुई, यह सारे शांति कालीन पुरस्कार हैं जो शांति कालीन दौरान अपनी बहादुरी और साहस और उत्कृष्ट वीरता का प्रदर्शन करने के लिए दिया जाता है।

शांति कालीन पुरस्कार के कुछ तथ्य
वैसे तो यह पुरस्कार का 1952 में शुरू किया गया लेकिन इसे भी सैन्य पुरस्कार की तहत देने की प्रक्रिया 1947 से की गई, कुछ समय बाद इन पुरस्कारों के नाम में बदलाव किया गया जहां जनवरी 1967 में अशोक चक्र वर्ग 1 को अशोक चक्र , अशोक चक्र वर्ग 2 को कीर्ति चक्र , अशोक चक्र वर्ग 3 को शौर्य चक्र नाम में बदलाव हुआ।

शांति कालीन पुरस्कार किन लोगों को देते हैं

इसमें कोई भी सेना का व्यक्ति जिसमें वायु सेना, रिजर्व बल , प्रादेशिक सेना चाहे वह किसी भी प्रकार का गठित सेना से संबंध रखता हो , यह सभी इस पुरस्कार को पाने के पात्रक होते हैं , तथा इसमें केंद्रीय अर्द्ध सैन्य बल और सभी प्रकार के पुलिस बल भी यह पुरस्कार से सम्मानित किया जा सकते है इसके अंतर्गत नागरिकों को भी यह दिया जा सकता है अगर वह किसी क्षेत्र से जुड़े हो और अपनी वीरता का बेहतरीन प्रदर्शन करते हो।

अशोक चक्र पुरस्कार के बारे में संक्षिप्त में।
यह भारत देश में सर्वोच्च शांति कालीन पुरस्कार है जब भारत देश किसी अन्य देश के साथ युद्ध न कर रहा हो, उस स्थिति में किए जाने वाली वीरता प्रदर्शन के लिए जो पुरस्कार दिया जाता है उसमें अशोक चक्र सबसे बड़ा शांति कालीन पुरस्कार है और यह पुरस्कार परमवीर चक्र के समान है अभी तक यह पुरस्कार 97 लोगों को प्राप्त हुआ है । जिसमें हवलदार बचित्तर सिंह, नायक नर बहादुर थापा यह पहले व्यक्ति थे जिन्हें यह पुरस्कार मिला।

अशोक चक्र पुरस्कार में दिए जाने वाले लाभ

अशोक चक्र से सम्मानित व्यक्ति को प्रतिमाह केंद्र सरकार द्वारा ₹12,000 की धनराशि दी जाती है, जिसमें राज्य सरकार द्वारा अलग से पुरस्कार देती है इस धनराशि पर कोई टैक्स नहीं लगता, इन लोगों को रेल यात्रा और चिकित्सा सुविधा में छूट दी जाती है । यह पुरस्कार मरणोपरांत पर भी दिया जाता है

कीर्ति चक्र के बारे में संक्षिप्त में।


कीर्ति चक्र दूसरा सबसे बड़ा शांति कालीन सैन्य पुरस्कार है , यह महावीर चक्र के समान है यह पुरस्कार सैन्य कर्मी व नागरिकों को दिया जाता है अभी तक भारत में यह पुरस्कार 488 व्यक्तियों को दिया जा चुका है। यह पुरस्कार नागरिकों के लिए भी है जिसमें सबसे पहले नागरिक बी.बी. दत्त रहे । कर्नल नीलकंठ जय चंद्र नायर ऐसे व्यक्ति रहे जिन्हें कीर्ति चक्र और अशोक चक्र दोनों से सम्मान दिया गया है ।

कीर्ति चक्र में दिए जाने वाले लाभ
यह पुरस्कार को पाने वाले व्यक्ति प्रतिमा केंद्र सरकार द्वारा ₹9,000 की धनराशि दी जाती है जिसमें कोई टैक्स नहीं लगता और राज्य सरकार द्वारा अन्य पुरस्कार दिए जाते हैं । यह पुरस्कार मरणोपरांत भी दिया जाता है इस पुरस्कार से सम्मानित व्यक्ति को रेल यात्रा और चिकित्सा सुविधा में छूट दी जाती है

शौर्य चक्र के बारे में जानकारी संक्षिप्त में।


यह पुरस्कार शांति कालीन पुरस्कारों में मिलने वाला तीसरा सबसे बड़ा पुरस्कार है जो वीरता साहसी बहादुर और आत्म बलिदान के लिए दिया जाता है ।यह पुरस्कार को प्राप्त करने वाले व्यक्तियों की संख्या 2,126 है।

शौर्य चक्र में दिए जाने वाले लाभ
शौर्य चक्र से सम्मानित व्यक्ति को केंद्र सरकार द्वारा प्रतिमाह ₹6,000 तक की राशि दी जाती है । जिसमें कोई टैक्स नहीं लगता और राज्य सरकार द्वारा अलग से पुरस्कार दिए जाते हैं यह पुरस्कार मरणोपरांत पर भी दिया जाता है तथा इस पुरस्कार से सम्मानित व्यक्ति को रेलवे यात्रा तथा चिकित्सा सुविधा में छूट दी जाती है।

अगर आपको सैन्य पुरस्कार का वीरता में दिए जाने वाले सम्मान इसका part 1 पढ़ना है तो click करे

2 thoughts on “शांति के दौरान दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार :- अशोक चक्र, कीर्ति चक्र, शौर्य चक्र ( Ashoka Chakra, Kirti Chakra, Shaurya Chakra )”
  1. I appreciate your excellent writeup. It was truly enjoyable to read and I look forward to more engaging content from you! That said, I’m curious about how we can stay in touch and communicate further. By the way I am a Senior Researcher at Clickmen™ – #1 Web Designing Company in USA and Canada providing Web Designing & Development as well as Search Engine Optimization (SEO) services throughout European Union, United States & Canada.

  2. Nice blog here Also your site loads up very fast What host are you using Can I get your affiliate link to your host I wish my site loaded up as quickly as yours lol

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *